अपने दिमाग के ऑपरेशन के दौरान वो गिटार बजाता रहा और डाक्टर ने कहा ऑपरेशन पूरी तरह सफल रहा

अपने दिमाग के ऑपरेशन के दौरान वो गिटार बजाता रहा और डाक्टर ने कहा ऑपरेशन पूरी तरह सफल रहाPic Credit - PTI

उसे बड़ी ही अजीब बीमारी थी नाम था Guitarist Dystonia, दरअसल जब भी वो गिटार बजाता उसके बांये हाथ की सबसे छोटी उंगली काम नहीं करती और उसे गिटार बजाने में बहुत मुश्किल होती थी। अभिषेक पूरे एक साल तक डाक्टर दर डाक्टर भटकते रहे लेकिन किसी को मर्ज़ की असल वजह समझ नहीं आयी। फिर किसी ने उसे बैंग्लोर के भगवान महाबीर जैन अस्पताल का पता दिया जहां के न्यूरोसर्जन सरन श्रीनिवासन ने उन्हे एक वीडियो दिखाया और दिमाग के ऑपरेशन की सलाह दी। दरअसल हमारे पूरे शरीर का कंट्रोल सिस्टम हमारे दिमाग में लगा हुआ है जो हमारे नर्वस सिस्टम से नियंत्रित होता है ऐसे में अगर कोई अंग काम नहीं करता तो उसके कंट्रोल मिकैनिस्म को दुरुस्त करने के लिये दिमाग में लगे उसके सर्किट को दुरुस्त करने की ज़रूरत पड़ती है।डाक्टर्स के सामने एक बड़ी चुनौती थी कि आखिर कैसे अभिषेक के बायें हाथ की छोटी उंगली के सर्किट की लोकेशन पता की जाये, तो इसके लिये डाक्टर्स ने अभिषेक से कहा कि वो लगातार गिटार बजाता रहे जिससे उसे होने वाली परेशानी की जड़ तक डाक्टर्स पहुंच सकें और ऐसा ही हुआ अभिषेक गिटार बजाता रहा और डाक्टर्स ने उसके सर्किट की लोकेशन को ढूंढ लिया।


photo credit - HT

डाक्टर्स ने इसके लिये अभिषेक के सर में सही लोकेशन पर एक छेद किया और करीब 9 सेमी की एक इलेक्ट्रोड को अंदर डाल कर उस एरिया को जला दिया जहां से ये समस्या पैदा हुई थी। और इस तरह देश में शायद पहली बार इस प्रकार की ब्रेन सर्किट सर्जरी को सफलता पूर्वक अंजाम दिया गया।


ऑपरेशन के बाद डा. श्रीनिवासन और अभिषेक Photo credit-HT

ऑपरेशन के बाद अभिषेक बहुत खुश हैं अब उनकी बायें हाथ की छोटी उंगली उनके कमांड को फालो करती है पहले उन्हे गिटार के एक कॉर्ड से दूसरे कॉर्ड पर जाने में तकलीफ होती थी लेकिन अब वो अपने सपने को जी रहे हैं। हांलाकि ऑपरेशन से पहले डाक्टर्स को भी सफलता की शत प्रतिशत उम्मीद नहीं थी लेकिन डाक्टर्स की सूझबूझ ने ऑपरेशन को 100 फीसदी सफल कर दिया।



Story Inputs - PTI & HT

Share it
Top